कबीरधामकवर्धा

बेमौसम बारिश और ओला वृष्टि से प्रभावित किसानों के फसलों का नियमानुसार क्षतिपूर्ति के लिए प्रकरण तैयार करें -कलेक्टर जनमेजय महोबे

राजस्व, कृषि, उद्यानिकी और बीमा प्रतिनधि ओलावृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों का कर रहें सर्वे

ओलावृष्टि और बेमौसम बारिश से प्रभावित किसानों के फसलों का तहसीलवार सर्वेक्षण किया जा रहा है। कलेक्टर जनमेजय महोबे ने आज सुबह राजस्व, कृषि, उद्यानिकी और बीमा कंपनी के प्रतिनिधियों की संयुक्त बैठक लेकर ओलावृष्टि तथा बारिश से प्रभावित फसलों और की विस्तृत जानकारी ली। बैठक में बताया गया कि ओलावृष्टि और बारिश से बोडला विकासखण्ड के रेंगाखार तहसील क्षेत्र, कवर्धा विकासखण्ड के पिपरिया तहसील और सहसपुर लोहारा विकासखण्ड बाजार चारभाठा सहित आसपास के क्षेत्रो में लगे फसलों को ज्यादा नुकसान होने की संभावनाएं है। नजरी आंकलन में ओलावृष्टि से गेहू,चना, तुवर, मसूर और उद्यानिकीय फसलों में पपिता और केला, साग-सब्जी फसलों को नुकसान हुआ है। कलेक्टर ने ग्राम वार किसानों के नाम, फसलों के प्रकार, क्षति एवं नुकसान के प्रतिशत के साथ शीघ्रता से सर्वे रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए है। कलेक्टर ने इसके लिए संबंधित एसडीएम को प्रतिदिन की रिपोर्ट की जानकारी संकलित करने के के लिए कहा है। कलेक्टर महोबे फसलों की क्षति के आधार पर बीमा कंपनी और प्राकृतिक आपदा राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत क्षति का आंकलन करने और नियमानुसार किसानों को उकने क्षति पूर्ति के लिए प्रकरण तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्देशित करते हुए कहा कि तहसीलदार, राजस्व निरीक्षक, पटवारी, कृषि विभाग के आरईओ और बीमा कंपनी के एक प्रतिनिधि के साथ ओलावृष्टि से प्रभावित क्षेत्रों का सघन आंकलन करें और बेमौसम बारिश और ओला वृष्टि प्रभावित किसानों को नियमानुसार मुआवजा राशि दिलवाएं। बैठक में बताया गया कि कबीरधाम जिले में लगभग 05 हजार से अधिक आवेदन शिकायत के रूप दर्ज हो चुके है। बैठक में राजस्व, उद्यानिकी, कृषि और फसल बीमा कंपनी के प्रतिनिधियों के अधिकारी उपस्थित थे।

Brajesh Gupta

Editor, cgnnews24.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button