कबीरधामछत्तीसगढ़

छत्तीशगढ़ बड़ी खबर: हर बार की तरह छत्तीसगढ़ में मनाएंगे शंकराचार्य दीपावली उत्सव, स्वागत के लिए सनातनियों में भारी उत्साह

छत्तीशगढ़ बड़ी खबर: हर बार की तरह छत्तीसगढ़ में मनाएंगे शंकराचार्य दीपावली उत्सव, स्वागत के लिए सनातनियों में भारी उत्साह

छत्तीसगढ़/रायपुर। ‘परमाराध्य’ परमधर्माधीश उत्तराम्नाय ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य महाराज स्वामि:श्री अविमुक्तेश्वरानन्दः सरस्वती ‘1008’ जी महाराज का लंबे समय के बाद छत्तीसगढ़ आगमन हो रहा हैं। शंकराचार्य जी 6 दिवसीय प्रवास पर आ रहें हैं। गुरु भक्तों ने तैयारियां पूरी कर ली हैं। वही, बेहद उत्साहित नजर आ रहें है

शंकराचार्य जी के मीडिया प्रभारी अशोक साहू ने बताया कि हर वर्ष जगद्गुरु शंकराचार्यजी महाराज दीपावली के पावन पर्व मनाने अपने प्रिय क्षेत्र छत्तीसगढ़ आते है। अब फिर से दीपावली का पावन पर्व आने को हैं व शंकराचार्य महाराज का आगमन होगा।

नियमित विमान से पहुंचेंगे रायपुर –

वर्तमान में धर्मप्रचार व हरियाणा परिक्रमा चल रहा, जिसमें शंकराचार्य हरियाणा राज्य के प्रत्येक जिले में धर्मप्रचार कर रहे है। महाराज 09 नवम्बर को हरियाणा राज्य के चंडीगढ़ से नियमित विमान से दिल्ली विमानतल पहुंचेंगे व दिल्ली से नियमित विमान से रायपुर आगमन होगा, जहां गुरुभक्तों व अनुयायियों द्वारा दिव्य दर्शन लाभ लेकर शंकराचार्य जी का भव्य स्वागत किया जाएगा।

बिलासपुर में मनाएंगे धनतेरस –

शंकराचार्य छत्तीसगढ़ के रायपुर विमानतल से सीधे सिमगा, नांदघाट सड़क मार्ग होते हुए शंकराचार्य के विशेष कृपापात्र शिष्य हरीश शाह के चिचिरदा रोड में स्थित कुंज कुटीर में पहुंचेंगे, जहां पर शाह परिवार द्वारा दिव्य दर्शन कर स्वागत अभिनंदन पदुकापुजन सम्पन्न कराया जाएगा। 10 नवम्बर को सुबह दर्शन दीक्षा व धनतेरस पर विशेष पूजन सम्पन्न किया जाएगा।

छोटी दिवाली श्रीसापाद लक्षेश्वर धाम सलधा में –

शंकराचार्य महाराज 11 नवम्बर को कुंजकुटिर बिलासपुर से सलधा के लिए प्रस्थान करेंगे। दोपहर 12 बजे कुंजकुटिर से चकरभाठा, बिल्हा, नांदघाट, सिमगा, बेमेतरा सड़क मार्ग से सापाद लक्षेश्वर धाम सलधा आगमन होगा व इस दौरान जगह जगह सनातनियों को दिव्य दर्शन लाभ मिलते रहेगा। सापाद लक्षेश्वर धाम आगमन पर ब्रह्मचारी श्रीज्योतिर्मयानंद प्रभारी सापाद लक्षेश्वर धाम द्वारा पदुकापुजन सम्पन्न करके भक्तों व सलधा वासियो को दिव्य दर्शन देंगे।

दीपावली मनाने अपने घर को प्रस्थान –

दीपावली के दिन शंकराचार्य जी अपने प्रिय कवर्धा में होंगे। पूज्यगुरुदेव शंकराचार्य जी बेमेतरा सापाद लक्षेश्वर धाम से कवर्धा के लिए प्रस्थान करेंगे। वही, इस दौरान कवर्धा पहुँच शंकराचार्य जी मीडिया प्रभारी अशोक साहू के निज निवास स्वामी अविमुक्त नगर स्थित श्री अशोक वाटिका में आगमन होगा, जहां पर हाइवे से लेकर श्री अशोक वाटिका तक नगर वासियो को दिव्य दर्शन लाभ मिलेगा। शंकराचार्य महाराज का पदुकापुजन साहू परिवार द्वारा किया जाएगा।

शंकरा भवन में भव्य स्वागत व दीपावली –

इसके बाद शंकराचार्य महाराज के विशेष कृपापात्र शिष्य व ज्योतिर्मठ के सीईओ चन्द्रप्रकाश उपाध्याय के निज निवास पहुचेंगे, जहाँ उपाध्याय परिवार द्वारा दिव्य दर्शन व लाभ ले कर पदुकापुजन सम्पन्न कराया जाएगा। वही, शाम के समय भगवान के पूजन एवं दीपावली उत्सव ततपश्चात मध्य रात्रि को माता काली मंदिर में पहुँच दर्शन पूजन कर पुनः शंकरा भवन आगमन होगा, विशेष लक्ष्मी पूजा सम्पन्न होगा। खास बात यह हैं कि दर्शनार्थियों के लिए पूरी रात ही शंकरा भवन खुला रहेगा।

चरडोंगरी में सम्पन्न होगी गोवर्धन पूजा

वही, प्रत्येक वर्ष निर्धारित आयोजन के अनुसार दीपावली उत्सव के बाद 13 नवम्बर को शंकरा भवन से चरडोंगरी के लिए शंकराचार्य प्रस्थान करेंगे, जहाँ गौशाला पहुँच गोवर्धन पूजन कर रायपुर के लिए प्रथान करेंगे।

श्री शंकराचार्य आश्रम रायपुर में मनाएंगे भाईदूज –

पूज्यगुरुदेव 13 नवम्बर के मध्यान कवर्धा से सड़क मार्ग होते हुए बेमेतरा, सिमगा, सिलतरा, रायपुर होते हुए श्री शंकराचार्य आश्रम बोरियाकला पहुँचेंगे, जहाँ ब्रह्मचारी डॉ इंदुभवानन्द द्वारा दिव्य दर्शन कर शंकराचार्य जी महाराज द्वारा राजराजेश्वरी त्रिपुर सुंदरी माता का विशेष पूजन किया जाएगा। ततपश्चात आश्रम में भक्तों को दिव्य दर्शन लाभ प्राप्त होगा। 14 नवम्बर को नियमित विमान से शंकराचार्य जी महाराज दिल्ली के लिए प्रस्थान करेंगे।

भक्तों में उत्साह –

बताते चले कि शंकराचार्य महाराज का छत्तीसगढ़ आगमन लंबे समय के बाद हो रहा है, जिस वजह से भक्तों में काफी उत्साह नजर आ रहा है शंकराचार्य महाराज का जहां-जहां आगमन होने वाला है वहां पर भव्य तैयारियां की गई है।

Brajesh Gupta

Editor, cgnnews24.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button